किसानों के लिए राहत की खबर : “कृषि रथ” मोबाइल ऐप के जरिए मंडी तक पहुंचेगा अनाज

कृषि रथ कोरोना वायरस के चलते पूरे भारत में लॉक डाउन है और ऐसे में किसानों के लिए कृषि करना और अपने अनाज को मंडी तक पहुंचाने में दिक्कतें आ रही है। हालांकि लॉक डाउन 2 मैं कृषि के कार्यों को करने के लिए छूट प्रदान कर दी गई है। क्योंकि अब रबी की फसल को काटने का समय है। किसानों को रबी की फसल से प्राप्त हुए अनाज को मंडी तक पहुंचाने के लिए सरकार ने एक मोबाइल एप का शुभारंभ किया है।

कृषि रथ मोबाइल एप्लीकेशन के जरिए मंडी तक पहुंचेगा अनाज

  • सरकार द्वारा जारी किए गए इस ऐप का नाम कृषि रथ है।
  • एप्लीकेशन की शुरुआत कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने की है।
  • किसानों को कोरोनावायरस के कारण लॉक डाउन के दौरान अपनी अनाज को बेचने के लिए
  • मंडी में जाने की आवश्यकता नहीं है।
  • इस एप्लीकेशन के जरिए कुछ जानकारी देनी होगी।
  • उसके पश्चात किसानों के घर पर अनाज लेने के लिए परिवहन सुविधा उपलब्ध करवा दी जाएगी।
  • अपना अनाज इस मोबाइल एप्लीकेशन के जरिए बेचने के लिए
  • किसानों को कृषि रथ एप्लीकेशन में अपने अनाज की मात्रा का ब्यौरा देना होगा।
  • उसके बाद किसान को परिवहन सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी।
  • नेटवर्क कंपनी किसानों को उस माल को पहुंचाने के पश्चात और किराए का ब्यौरा देगी।
  • किसान का अनाज मंडी तक पहुंचने के पश्चात किसान को ट्रांसपोर्टरों से बातचीत करके
  • परिवहन सुविधा के लिए कुछ किराया गाड़ी के मालिक को देना होगा।

Read also :- Ekharid Online Registration , Meri Fasal Mera Byora

ट्रांसपोर्टर से किसान कर सकता है बातचीत

कृषि मंत्रालय द्वारा दिए गए इस बयान के पश्चात किसानों के मन में कई सवाल उत्पन्न हुए किसानों का कहना है,कि ऐसे में परिवहन सुविधा के बदले अधिक किराया वसूला जा सकता है। लेकिन ऐसा किसानों के साथ नहीं किया जाएगा, किसानों पर उचित किराया ही वसूला जाएगा, किसान परिवहन सुविधा के बारे में पूरी जानकारी ट्रांसपोर्टरों से ले सकते हैं।

 

Read also :- राजस्थान लॉक डाउन 2 गाइडलाइन : 20 अप्रैल के बाद राजस्थान में इन चीजों की सुविधाएं होगी लागू

कृषि रथ एप्लीकेशन के जरिए लोगों तक परिवहन सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए करीब 570000 ट्रक को रजिस्टर किया गया है।

Leave a comment